प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म व हेल्पलाइन नंबर

    • प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना | सौभाग्य योजना बिजली कनेक्शन 2021 | सौभाग्य योजना टोल फ्री नंबर | सौभाग्य योजना सूची | सौभाग्य योजना टोल फ्री नंबर यूपी | सौभाग्य योजना सूची राजस्थान | सौभाग्य योजना ऑनलाइन फॉर्म | सौभाग्य योजना कब शुरू हुई? सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली बिजली की सुविधा के लिए क्या है

      सौभाग्य योजना प्रधानमंत्री ऑनलाइन | PM Saubhagya Scheme Apply | पीएम सौभाग्य योजना एप्लीकेशन फॉर्म | PM Saubhagya Yojana Helpline Number

      प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना  की शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देश के गरीब परिवारों को बिजली की सुविधा प्रदान करने के लिए की है। इस योजना के तहत देश के  आर्थिक रूप से  गरीब लोगों को बिजली का कनेक्शन नहीं मिल सकता है और जो परिवार बिना बिजली के रह रहे हैं उन्हें केंद्र सरकार द्वारा मुफ्त में प्रदान किया जाता है। केंद्र सरकार की ओर से केवल उन्हीं परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जाएगा। इस योजना को  प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना के नाम से  भी जाना जाता है।

      Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana (Saubhagya Yojana) 

      इस योजना के तहत देश के ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों के गरीब परिवारों को कवर किया जाएगा। इस  प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना  के तहत बिजली कनेक्शन के लिए 2011 की सामाजिक, आर्थिक और जातीय जनगणना के आधार पर देश के उन लोगों का चयन किया गया था । बिजली कनेक्शन।) किया जाएगा, केवल उन्हीं लोगों को बिजली कनेक्शन दिया जाएगा, जिनका नाम इस सामाजिक-आर्थिक जनगणना में आएगा। इसे दस आसान किश्तों में दिया जा सकता है।

      जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा पूरा किया गया 100% लक्ष्य

      प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत जम्मू-कश्मीर द्वारा विद्युतीकरण का 100% लक्ष्य पूरा कर लिया गया है । जम्मू-कश्मीर प्रशासन हर गांव में विद्युतीकरण सुनिश्चित करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहा है। इस योजना के तहत जम्मू-कश्मीर के 357405 घरों का विद्युतीकरण किया गया है। समय से पहले शत-प्रतिशत विद्युतीकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर को 100 करोड़ रुपये का इनाम भी दिया गया है। जम्मू-कश्मीर के उधमपुर जिले के सहगल के कुछ गांवों में पहली बार बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है. इसके अलावा ग्रामीण कश्मीर के शोपिया जिले के केलर में भी बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है.राजौरी के नौशेरा मंडल के गांवों और पहाड़ी इलाकों में भी बिजली पहुंच गई है.

      प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के माध्यम से वितरण कंपनी बिजली कनेक्शन जारी करने के साथ-साथ आवेदन पत्र भरने की सुविधा के लिए गांव या गांवों के समूह में शिविरों का आयोजन करती है। आवेदन पत्र को इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से पोर्टल पर भरकर अपलोड किया जाता है। इसके अलावा सरकार की ओर से इस योजना के संचालन के लिए गर्व ऐप भी लॉन्च किया गया है। जिसका उद्देश्य विद्युतीकरण योजनाओं के क्रियान्वयन में पारदर्शिता एवं निगरानी सुनिश्चित करना है।

      प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना 2022 का उद्देश्य

      जैसा कि आप जानते हैं कि देश में ऐसे कई घरों में अभी भी बिजली नहीं है लेकिन आर्थिक रूप से गरीब होने के कारण वे बिजली के बिना रह रहे हैं। जिससे उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। . इन सभी समस्याओं को दूर करने  के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना  शुरू की गई है, इस योजना के माध्यम से देश के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में जहां गरीब परिवारों के घरों में बिजली नहीं है  , मुफ्त बिजली कनेक्शन प्रदान करने और रोशन करने के लिए उनके घर। जिससे वह आराम से अपना जीवन व्यतीत कर सके।

      Saubhagya Yojana 2022 Highlights

      योजना का नाम Prime Minister Saubhagya Yojana
      द्वारा शुरू किया गया प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा
      प्रारंभ तिथि 25 सितंबर 2017
      लाभार्थी देश के गरीब परिवार
      उद्देश्य गरीब लोगों को मुफ्त बिजली कनेक्शन
      आवेदन का तरीका ऑनलाइन
      आधिकारिक वेबसाइट https://saubhagya.gov.in/

      List of selected areas under Pradhan Mantri Saubhagya Yojana

      • बिहार
      • Uttar Pradesh
      • Madhya Pradesh
      • ओडिशा
      • झारखंड
      • जम्मू और कश्मीर
      • राजस्थान Rajasthan
      • पूर्वोत्तर राज्य

      लाभार्थी परिवारों की अनुमानित संख्या

      कुल ग्रामीण परिवार 1796 लाख
      विद्युतीकृत ग्रामीण परिवार 1336 लाख
      शेष गैर-विद्युतीकृत ग्रामीण परिवार 460 लाख
      बीपीएल परिवार जिन्हें डीडीयूजीजेवाई के तहत मंजूरी मिल गई है लेकिन अभी तक विद्युतीकृत नहीं किया गया है 179 लाख
      परिवार के बाकी 281 लाख
      शहरी क्षेत्रों में आर्थिक रूप से गरीब विद्युतीकृत परिवार 50 लाख
      कुल विद्युतीकृत परिवार अभी तक कवर नहीं किए गए हैं 331 लाख

      सौभाग्य योजना के तहत वित्तीय सहायता

      क्रमिक संख्या एजेंसी समर्थन की प्रकृति समर्थन की मात्रा (परियोजना लागत का %) समर्थन की मात्रा (परियोजना लागत का %)
            विशेष श्रेणी के राज्य के अलावा विशेष श्रेणी राज्य
      1. भारत सरकार अनुदान 60 85
      2. उपयोगिता/राज्य योगदान खुद का फंड 10 5
      3. ऋण (वित्तीय संस्थान/बैंक) ऋण 30 10
      4. निर्धारित मील के पत्थर की उपलब्धि पर भारत सरकार से अतिरिक्त अनुदान अनुदान कुल ऋण घटक का 50% (30%) यानी 15% कुल ऋण घटक का 50% (10%) अर्थात 5%
      5. भारत सरकार द्वारा अधिकतम अनुदान (निर्धारित मील के पत्थर की उपलब्धि पर अतिरिक्त अनुदान सहित) अनुदान 75% 90%

      देश में गैर-विद्युतीकृत घरों की राज्यवार स्थिति

       क्रमिक संख्या  राज्य कुल ग्रामीण परिवार (लाख में) विद्युतीकृत घर (लाख में) गैर-विद्युतीकृत घर (लाख में)  
       1.  आंध्र प्रदेश  112.78  112.78 0
       2.  अरुणाचल प्रदेश  2.32  1.51 0.81
       3.  असम  51.88  27.78 24.10
       4.  बिहार  123.46  58.76 64.70
       5.  छत्तीसगढ  45.06  38.64 6.42
       6.  गोवा  1.28  1.28 0.00
       7.  गुजरात  66.59  66.59 0.00
       8.  हरयाणा  34.24  27.42 6.82
       9.  हिमाचल प्रदेश  14.70  14.57 0.13
       10.  जम्मू और कश्मीर  12.91  10.21 2.70
       1 1।  झारखंड  54.81  24.39 30.42
       12.  कर्नाटक  94.94  87.78 7.16
       13.  केरल  71.04  71.04 0.00
       14.  Madhya Pradesh  114.00  69.05 44.95
       15.  महाराष्ट्र  139.14  135.53 3.61
       16.  मणिपुर  3.88  2.81 1.07
       17.  मेघालय  4.63  3.24 1.39
       18.  मिजोरम  1.10  0.99 0.11
       19.  नगालैंड  1.60  0.72 0.88
       20.  ओडिशा  86.60  53.98 32.62
       21.  पंजाब  36.89  36.89 0.00
       22.  राजस्थान Rajasthan  90.07  69.93 20.14
       23.  सिक्किम  0.37  0.32 0.05
       24.  तमिलनाडु  102.83  102.83 0.00
       25.  तेलंगाना  59.73  55.63 4.10
       26.  त्रिपुरा  7.96  5.80 2.16
       27.  Uttar Pradesh  302.34  155.87 146.47
       28.  उत्तराखंड  17.32  15.47 1.85
       29.  पश्चिम बंगाल  138.26  136.93 1.33
       30.  पुदुचेरी  1.02  1.02 0.00
       संपूर्ण  1793.87  1389.81 404.06

      प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के मुख्य तथ्य

      • पीएम सौभाग्य योजना 2022 के तहत  देश के जिन इलाकों में अभी तक बिजली नहीं पहुंची है, वहां केंद्र सरकार हर घर को सोलर पैक देगी, जिसमें पांच एलईडी बल्ब और एक पंखा होगा.
      • इस योजना के तहत, सरकार दूरस्थ और दुर्गम क्षेत्रों में स्थित गैर-विद्युतीकृत घरों के लिए बैटरी बैंक के साथ 200 से 300 Wp के सौर ऊर्जा पैक भी प्रदान करेगी, जिसमें 5 एलईडी लाइट, 1 डीसी पंखा और 1 डीसी पावर प्लग शामिल है।
      • केंद्र सरकार की सौभाग्य योजना के तहत सरकार का लक्ष्य हर गांव और शहर के हर घर में बिजली पहुंचाना है.
      • केंद्र सरकार ने पीएम सौभाग्य योजना के क्रियान्वयन के लिए 16,320 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है ।
      • पांच साल तक बैटरी बैंक की मरम्मत का खर्च सरकार उठाएगी।
      • इस योजना के तहत सरकार ट्रांसफार्मर, तार और मीटर जैसे उपकरणों पर भी सब्सिडी देगी।
      • बिजली कनेक्शन के लिए हर गांव में कैंप लगाए जाएंगे.

      प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना का कुल बजट

      सरकार ने पीएम सौभाग्य योजना  के लिए 16,320 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया है । इस योजना के तहत सरकार की ओर से 12,320 करोड़ रुपये की सरकारी सहायता का भी प्रावधान किया गया है. प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत बजट का अधिकतम हिस्सा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए रखा गया है. सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 14,025 करोड़ रुपये और शहरी क्षेत्रों के लिए 2.50 करोड़ रुपये का बजट रखा गया है.

      Features of Pradhan Mantri Saubhagya Yojana

      • Pradhan Mantri Saubhagya Yojana was launched on 11 October 2017
      • इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य हर घर में बिजली पहुंचाना है।
      • इस योजना के तहत बहनोई के लिए नोडल एजेंसी ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लिमिटेड की स्थापना की गई है
      • इस योजना के माध्यम से मुफ्त बिजली उपलब्ध कराने के लाभार्थियों का चयन सामाजिक-आर्थिक लागत संवेदक 2011 के माध्यम से किया जाएगा

      Benefits of Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana

      •  इस योजना का लाभ देश के ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों के गरीब परिवारों को प्रदान किया जाएगा।
      • प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना  निश्चित रूप से देश में समग्र आर्थिक विकास में सुधार लाने और युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने में मदद करेगी।
      • देश के गरीब परिवारों को बिजली कनेक्शन मुफ्त दिया जाएगा।
      • Under the Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana  , 3 crore poor people will be benefited.
      • जिन क्षेत्रों में बिजली उपलब्ध कराना संभव नहीं है, वहां सोलर पैक उपलब्ध कराए जाएंगे।
      • सरकार 5 एलईडी लाइट, एक डीसी पंखा, एक डीसी बिजली प्लग और पांच साल तक इसकी मरम्मत का खर्च वहन करेगी।
      • देश के इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना के तहत मुफ्त बिजली कनेक्शन प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा।

      सौभाग्य योजना के तहत अपात्रता

      • 2/3/4 व्हीलर या मछली पकड़ने वाली नाव वाले परिवार।
      • 3 से 4 पहिया वाहनों वाले कृषि उपकरण वाले परिवार।
      • जिन परिवारों के किसान क्रेडिट कार्ड की सीमा 50,000 रुपये से अधिक है।
      • सरकारी कर्मचारियों को भी इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है।
      • वे परिवार जो सरकार द्वारा गैर-कृषि क्षेत्र में पंजीकृत हैं।
      • यदि परिवार का कोई सदस्य ₹10000 से अधिक कमा रहा है तो वह परिवार भी इस योजना के लिए पात्र नहीं है।
      • परिवार में कोई आयकर देने वाला सदस्य होने पर भी इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
      • यदि परिवार के सदस्य द्वारा व्यावसायिक कर का भुगतान किया जा रहा है, तो इस योजना का लाभ उस परिवार को भी नहीं दिया जाएगा।
      • घर में फ्रिज या लैंडलाइन फोन होने पर भी इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
      • अगर घर में 3 या 3 से ज्यादा पक्के कमरे हैं तो ऐसी स्थिति में भी इस योजना का लाभ नहीं उठाया जा सकता है।
      • किसान के पास 2.5 एकड़ जमीन और कृषि उपकरण होने पर भी इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
      • 5 एकड़ से अधिक भूमि वाले किसानों को भी इस योजना का लाभ नहीं मिल सकता है।

      नोट:  वे सभी परिवार जो सौभाग्य योजना के पात्र नहीं हैं वे ₹500 देकर बिजली कनेक्शन ले सकते हैं।

      दस्तावेजों की प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना (पात्रता)

      • आवेदन गरीब परिवार से होना चाहिए और जिनके घर में बिजली नहीं है।
      • यह मुफ्त बिजली उन गरीबों को दी जाएगी जिनके नाम सामाजिक-आर्थिक जनगणना में दर्ज होंगे।
      • देश के वो गरीब जिनका नाम जनगणना में दर्ज नहीं होगा। इसके लिए उन्हें 500 रुपये देने होंगे, जिसे वे 10 किस्तों में चुका सकते हैं।
      • आवेदक का आधार कार्ड
      • पैन कार्ड वोटर आईडी कार्ड
      • निवास प्रमाण पत्र
      • मोबाइल नंबर
      • आवास प्रामाण पत्र
      • पासपोर्ट साइज फोटो

      प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

      देश के इच्छुक लाभार्थी जो इस  प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना  के तहत आवेदन करना चाहते हैं , तो वे नीचे दिए गए तरीके का पालन कर सकते हैं।

      • सबसे पहले आवेदक को योजना की  अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा । आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
      Prime Minister Saubhagya Yojana
      pm saubhagya yojana
      • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा इस पेज पर आपको कुछ जानकारी जैसे रोल आईडी और पासवर्ड डालना होगा।
      • इसके बाद आपको साइन इन बटन पर क्लिक करना है। इस तरह आप अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। अब उम्मीदवार विद्युतीकरण प्रगति, मासिक लक्ष्य, उपलब्धियों आदि को ट्रैक करने के लिए पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं।
      • इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकता है कि उसे कब तक बिजली दी जाएगी।

       Process to download PM Saubhagya Yojana mobile app

      • सबसे पहले आपको अपने मोबाइल में Google Play Store ओपन करना है।
      • अब आपको सर्च बॉक्स में प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना दर्ज करनी है।
      • इसके बाद आपको सर्च बटन पर क्लिक करना है।
      • अब आपके सामने एक लिस्ट खुलेगी।
      • इस लिस्ट में आपको सौभाग्य ऐप दिखाई देगा।
      • आपको उस ऐप पर क्लिक करना है।
      • इसके बाद आपको इनस्टॉल बटन पर क्लिक करना है।
      • जैसे ही आप इंस्टाल बटन पर क्लिक करेंगे तो आपके फोन में प्रधानमंत्री सौभाग्य मोबाइल एप डाउनलोड हो जाएगा।

      Implementation of Sahaj Bijli Har Ghar Yojana  ( Saubhagya Yojana)

      प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना को सफलतापूर्वक चलाने के लिए आधुनिक तकनीक जैसे मोबाइल ऐप का उपयोग किया जाएगा । जिसके जरिए घरों का सर्वे किया जाएगा। इस योजना के तहत लाभार्थियों की पहचान की जाएगी और लाभार्थियों का मौके पर ही पंजीकरण किया जाएगा। इसके लिए आवेदक के फोटो और पहचान प्रमाण के साथ बिजली कनेक्शन के लिए उनसे आवेदन पत्र भरा जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायत और सार्वजनिक संस्थानों को उन दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र जमा करने की जिम्मेदारी दी जाएगी। इसके साथ ही उन्हें पंचायत राज संस्थाओं और शहरी स्थानीय निकायों के परामर्श से बिजली बिलों के वितरण और राजस्व वसूली की जिम्मेदारी भी दी जाएगी.इस योजना के संचालन के लिए ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लिमिटेड को नोडल एजेंसी बनाया गया है।

      हॉकिंग्स से संबंधित जानकारी देखने की प्रक्रिया

      हैकिंग के बारे में जानकारी
      • अब आपको कैटेगरी को सेलेक्ट करना है।
      • इसके बाद आपको चयनित श्रेणी के अनुसार जानकारी दर्ज करनी होगी।
      • अब आपको साइन इन ऑप्शन पर क्लिक करना है।
      • प्रासंगिक जानकारी आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

      परिसर से संबंधित जानकारी देखने की प्रक्रिया

      • सबसे पहले आपको सौभाग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
      • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
      • होम पेज पर आपको कैंप के विकल्प पर क्लिक करना है।
      • इसके बाद आपके सामने एक डायलॉग बॉक्स खुलेगा।
      • इस डायलॉग बॉक्स में आपको कैंप की कैटेगरी सेलेक्ट करनी है।
      • अब आपको OK के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
      • प्रासंगिक जानकारी आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

      सभी महत्वपूर्ण डाउनलोड प्रक्रिया

      Process to view Gram Swaraj Abhiyan Dashboard

      Gram Swaraj Abhiyan
      • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
      • इस पेज पर आपको अपने राज्य, जिले, गांव और डिस्कॉम का चयन करना होगा।
      • यह चयन करते ही आपके सामने ग्राम स्वराज अभियान से जुड़ी जानकारी खुलकर आ जाएगी।

      PM Saubhagya Yojana Helpline Number

      सरकार द्वारा देश के उन लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी रखा गया है जो पीएम सौभाग्य योजना  से संबंधित कोई भी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं या कोई समस्या है। योजना के बारे में जानने के लिए देश के गरीब लोग इस नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। हमने नीचे दिया है

      • सौभाग्य टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर : 1800-121-5555
      • DISCOMs हेल्पलाइन नंबर PDF

       

      pmmodiyojana.in

Leave a Comment