Vivad Se Vishwas Scheme 2022: विवाद से विश्वास स्कीम क्या है, Details

Vivad Se Vishwas Scheme 2022:  केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा वर्ष 2020 में विवादित करों की समस्याओं के समाधान के लिए 1 फरवरी को इस योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना के तहत करदाताओं के प्रत्यक्ष कर से विवादित कर मामलों का निपटारा किया जाएगा। विवाद से विश्वास योजना 2022 के तहत करदाताओं को केवल विवादित करों की राशि का ही भुगतान करना होगा। केंद्र सरकार की इस योजना के तहत करदाताओं को किसी प्रकार का ब्याज या जुर्माना आदि नहीं देना होगा।

आज हम इस लेख के माध्यम से विवाद से विश्वास योजना 2022: विवाद से विश्वास योजना क्या है से संबंधित विवरण साझा करने जा रहे हैं। इसलिए इस योजना से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें।

विवाद से विश्वास योजना क्या है  ?

Vivad Se Vishwas Schemeविवाद से विश्वास योजना वह योजना है जिसमें सभी कर भुगतान करने वाले व्यवसायियों को कर संबंधी विवादों के कारण किसी भी मंच द्वारा परेशान किया जा रहा है। या फिर टैक्स नहीं चुकाने की वजह से उन्हें कोर्ट का चक्कर लगाना पड़ रहा है. इन सभी विवादों से करदाताओं को बचाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा विवाद से विश्वास योजना शुरू की गई है। केंद्र सरकार की इस योजना की मदद से करदाता बिना किसी जुर्माने के अपने शेष कर का भुगतान कर सकते हैं। उन सभी नागरिकों को, जिन्होंने किसी कारणवश आयकर का भुगतान नहीं किया है, उन्हें इस योजना के तहत एक बार फिर से निर्धारित समय के भीतर कर भुगतान करने की सुविधा दी गई है।

विवाद से विश्वास योजना के तहत कारोबार करने वाले लोगों को भी सरप्लस फॉर्म में कोई जुर्माना नहीं देना होगा। केंद्र सरकार की इस योजना का लाभ लेने के लिए कारोबारियों को आयकर विभाग से संपर्क करना होगा। इस योजना के तहत करदाताओं को किसी भी प्रकार की पहचान के लिए उजागर नहीं किया जाएगा।

Vivad Se Vishwas Scheme  Details

योजना का नाम Vivad Se Vishwas Scheme
वर्ष 2022
योजना की घोषणा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा
लाभार्थी करदाताओं
पंजीकरण की प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य कर मामलों का समाधान
श्रेणी केंद्र सरकार की योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट www.incometaxindiaefiling.gov.in/home

विवाद से विश्वास योजना के उद्देश्य

विवाद से विश्वास योजना 2022- का मुख्य उद्देश्य लंबे समय से अदालतों में लंबित सभी प्रत्यक्ष करों के 9.32 लाख करोड़ से जुड़े 4.83 लाख मामलों के निपटान में तेजी लाना है। इस योजना के तहत अदालतों में दर्ज इन सभी मामलों को एक-एक करके आसानी से हल करने में मदद मिलेगी। यदि इन सभी मामलों को अदालतों के तहत सुलझा लिया जाता है, तो इन्हें हल करने में काफी समय लग सकता है। इस प्रक्रिया के तहत कई मामलों का निपटारा नहीं हो पाता है। इन सभी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार के अधीन सरकार विवादित राशि प्राप्त कर सकती है और इन मामलों से संबंधित मामलों की संख्या को अदालतों से कम करने के लिए योजना शुरू की गई है।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य करदाताओं को केवल विवादित कर राशि का भुगतान करने की सुविधा प्रदान करना है। उन्हें इस टैक्स का भुगतान करने पर ब्याज और जुर्माना राशि पर भी पूरी छूट मिलेगी। अदालती कार्यवाही से बचने के लिए यह केंद्र सरकार की एक विशेष योजना है।

Vivad Se Vishwas Scheme 2022 Last Date

विवाद से विश्वास योजना – 31 मार्च 2020 योजना के प्रारंभिक चरण में इसका लाभ प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा आवेदन करने की अंतिम तिथि थी। जिसे बाद में 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ा दिया गया था। लेकिन कोविड-19 के कारण देश में कई अयोग्य अर्थव्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई है, जिसके कारण इस योजना की अंतिम तिथि 31 मार्च 2022 तक बढ़ा दी गई है। विवाद से विश्वास योजना के तहत केंद्र सरकार के तहत न्यायाधिकरणों, अपीलों, अदालतों आदि के लंबित मामलों को भी शामिल किया गया है। छापेमारी की स्थिति में यदि विवादित आयकर की मांग 5 करोड़ रुपये से कम है तो वह नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकता है।

विवाद से विश्वास योजना आवेदन प्रक्रिया

यदि आप विवादित कर का भुगतान करना चाहते हैं और विवाद से विश्वास योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको आयकर विभाग से आवेदन पत्र लेना होगा। क्योंकि केंद्र सरकार की ओर से अभी तक इस योजना के लिए कोई ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है। आप आयकर विभाग में जाकर इसके लिए फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं और अंतिम तिथि से पहले कार्यालय में जाकर अपना पत्र जमा कर सकते हैं। इसके बाद आप विवाद से विश्वास योजना से मिलने वाली सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

विवाद से विश्वास योजना 2022 संबंधित प्रश्न उत्तर

विवाद से विश्वास योजना कब और किसके द्वारा शुरू की गई थी?

1 फरवरी 2020 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा विवाद से विश्वास योजना की शुरुआत की गई है।

विवाद से विश्वास योजना 2022 क्यों  शुरू की गई है?

विवाद से विश्वास योजना 2022 की शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा कर भुगतान से संबंधित विवादों को सुलझाने के लिए की गई है, इस योजना के तहत पीड़ित पक्ष और विभाग आमने-सामने बैठकर कर विवाद को सुलझाते हैं।

विवाद से विश्वास योजना का लाभ कौन उठा सकता है?

इस योजना का लाभ वे सभी करदाता उठा सकते हैं, जिनका मामला 5 करोड़ से कम की छापेमारी में पकड़ा गया हो, लेकिन इस योजना का लाभ तभी उठा सकते हैं जब कोर्ट में मामला नहीं चल रहा हो और कोर्ट ने उनके लिए सजा का ऐलान कर दिया हो. ऐसे में उन्हें योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।

विवाद से विश्वास योजना के क्या लाभ हैं?

इस योजना के तहत करदाताओं को केवल विवादित कर का भुगतान करना होगा। योजना के तहत करदाताओं को जुर्माने और जुर्माने में विशेष छूट प्रदान की जाती है। इसके तहत करदाताओं को अदालती कार्यवाही से बचने का मौका मिलता है।

Leave a Comment